NABARD Dairy Loan 2023 –: नाबार्ड डेयरी फार्मिंग लोन योजना; ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? जानिए सभी लाभ और निर्देश

NABARD Dairy Loan

NABARD Dairy Loan Yojana का आरंभ भारत सरकार द्वारा देश के लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए किया गया है। इस योजना के अंतर्गत, देश के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को डेयरी फार्मिंग को व्यवस्थित करने के लिए सरकार द्वारा कम ब्याज दर पर ऋण प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत प्रदान किया जाने वाला ऋण बैंकों द्वारा होगा। इस योजना के अंतर्गत, पशुपालन विभाग आधुनिक डेयरी को सभी जिलों में स्थापित करेगा। आइए, इस आलेख के माध्यम से NABARD Yojana से जुड़ी सभी जानकारी को साझा करें।

डेयरी फार्मिंग योजना

NABARD Dairy Loan योजना को सही ढंग से चलाने के लिए पशुपालन के अलावा मत्स्य पालन विभाग की सहायता ली जाएगी। NABARD Dairy Loan फार्मिंग योजना 2023 के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार लोगों को स्वरोजगार उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि लोग आसानी से अपना व्यापार चला सकें और हमारे देश में रोजगार के अवसर बढ़ सकें। इस योजना के अंतर्गत देश में दूध के उत्पादन के लिए डेयरी फार्म की स्थापना को बढ़ावा दिया जाएगा। दूध उत्पादन से लेकर गाय या भैंसों की देखभाल, गायों की रक्षा, घी निर्माण आदि, सभी कुछ मशीन-आधारित होगा। इस NABARD Dairy Loan का लाभ उठाने के लिए जो भी इच्छुक लाभार्थी हैं, उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा।

NABARD Dairy Loan 2023 का उद्देश्य

जैसा कि आप जानते हैं, देश के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले कई लोग डेयरी फार्मिंग के माध्यम से अपनी आजीविका चलाते हैं। हालांकि, डेयरी फार्मिंग व्यवस्थित नहीं होने के कारण लोगों को अधिक मुनाफा नहीं हो पा रहा है। NABARD Dairy Loan योजना 2023 के अंतर्गत डेयरी उद्योग को सुव्यवस्थित बनाया जाएगा और इसे सुचारू रूप से चलाने का प्रयास किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से स्व-रोजगार को बढ़ावा देने और डेयरी क्षेत्र के लिए सुविधाएं प्रदान करने का लक्ष्य है। नाबार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य है लोगों को ब्याज के बिना ऋण प्रदान करना ताकि वे अपना व्यवसाय आसानी से चला सकें, जिससे दूध उत्पादन में वृद्धि हो और देश से बेरोजगारी को कम किया जा सके। सरकार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए बड़े पैम्बर में कार्य कर रही है।

नाबार्ड डेयरी योजना और बैंक सब्सिडी

डेयरी उद्यमिता विकास योजना के अंतर्गत दुग्ध उत्पाद (मिल्‍क प्रोडक्‍ट) बनाने की यूनिट शुरू करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है। NABARD Dairy Loan योजना 2023 के तहत, आप दुग्ध उत्पाद की प्रोसेसिंग के लिए उपकरण खरीद सकते हैं। यदि आप एक मशीन खरीदते हैं जिसकी कीमत 13.20 लाख रुपये है, तो आपको इस पर 25 फीसदी (3.30 लाख रुपये) की कैपिटल सब्सिडी मिल सकती है। एससी/एसटी कैटेगरी से आने वालों को इसके लिए 4.40 लाख रुपये की सब्सिडी प्राप्त हो सकती है।

भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली सभी योजनाओ कि सूची देखे

नाबार्ड के डीडीएम ने बताया है कि इस योजना में, बैंक द्वारा स्वीकृत ऋण राशि मिलेगी, और 25% लाभार्थी को यह मिलेगी। इस योजना का लाभ उठाने के इच्छुक व्यक्तियों को सीधे बैंक से संपर्क करना चाहिए। अगर आप पांच गायों के तहत डेयरी शुरू करना चाहते हैं, तो आपको उनकी लागत का 50% सबूत देना होगा, और सरकार इसके लिए 50% सब्सिडी प्रदान करेगी। किसानों को यह अनुभव करने के लिए बैंक को विभिन्न किस्तों में 50% देना होगा।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के लाभार्थी

1) किसान:

NABARD Dairy Loan फार्मिंग योजना का प्रमुख लाभ किसानों को हो रहा है। इस योजना के अंतर्गत, किसानों को सब्सिडी और ऋण की सुविधा प्रदान की जा रही है, जिससे उन्हें डेयरी फार्मिंग में नए उत्पादों को उत्पन्न करने और उन्हें बाजार में प्रस्तुत करने के लिए आवश्यक सामग्री खरीदने में मदद हो रही है।

2) उद्यमी:

यह योजना उद्यमियों को भी प्रासंगिक है, क्योंकि उन्हें डेयरी उत्पादों के निर्माण में सकारात्मक परिणाम प्राप्त करने के लिए विभिन्न सुविधाएं और सब्सिडी प्रदान की जा रही है।

3) कंपनियां:

NABARD Dairy Loan योजना के तहत कंपनियों को भी अनेक लाभ हो रहे हैं, क्योंकि उन्हें डेयरी उत्पादों के निर्माण और विपणि में समर्थन मिल रहा है, जिससे उनका व्यापार और विकास हो रहा है।

4) गैर सरकारी संगठन:

गैर सरकारी संगठनों को भी इस योजना से फायदा हो रहा है, क्योंकि इससे उन्हें सामूहिक उत्पादन और विपणि के क्षेत्र में समर्थन मिल रहा है।

5) संगठित समूह:

NABARD Dairy Loan फार्मिंग योजना से संगठित समूहों को विशेष लाभ हो रहा है, क्योंकि इससे उन्हें विभिन्न सुविधाएं और सहारा मिल रहा है, जो उनके समृद्धि में मदद कर रहा है।

6) असंगठित क्षेत्र:

NABARD Dairy Loan योजना के द्वारा असंगठित क्षेत्र के लोगों को भी आर्थिक रूप से सशक्तिकरण का मौका मिल रहा है, क्योंकि यह उन्हें सब्सिडी और अन्य लाभांवित सुविधाएं प्रदान कर रहा है।

7) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना:

NABARD Dairy Loan योजना के साथ-साथ, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भी जोड़कर किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है, जिससे उनकी आजीविका में सुधार हो रहा है।

इस प्रकार, नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना विभिन्न वर्गों के लोगों को समृद्धि और आर्थिक सुधार का एक सामर्थ्यपूर्ण माध्यम प्रदान कर रही है।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना में लोन प्रदान करने वाली संस्थाएं;

1) व्यवसायिक बैंक:

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के तहत, व्यवसायिक बैंकों को लोन प्रदान करने का कार्य हो रहा है, जिससे किसानों और उद्यमियों को आर्थिक समर्थन मिल रहा है।

2) क्षेत्रीय बैंक:

क्षेत्रीय बैंकें भी नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत लोन प्रदान करके ग्रामीण क्षेत्र में डेयरी व्यवसाय को समर्थन प्रदान कर रही हैं।

3) राज्य सहकारी बैंक:

राज्य सहकारी बैंकें भी इस योजना के अंतर्गत लोन प्रदान करके ग्रामीण क्षेत्र में डेयरी विकास को बढ़ावा देने में योगदान कर रही हैं।

4) राज्य सहकारी कृषि ग्रामीण विकास बैंक:

राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंकें भी नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना के तहत ऋण प्रदान करके किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान कर रही हैं।

5) अन्य संस्थान जो नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र हैं:

नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र संस्थाएं भी इस योजना के अंतर्गत डेयरी फार्मिंग परियोजनाओं को आर्थिक समर्थन प्रदान कर रही हैं।

नाबार्ड डेयरी सब्सिडी योजना की पात्रता:

  • आवेदक:

नाबार्ड योजना के अंतर्गत किसान, व्यक्तिगत उद्यमी, गैर-सरकारी संगठन, कंपनियां, असंगठित और संगठित क्षेत्र समूह आदि शामिल हो सकते हैं।

  • लाभ केंद्र:

यह योजना विभिन्न घटकों के लिए सहायता प्रदान करती है और एक व्यक्ति एक बार ही लाभ उठा सकता है।

  • परिवार में सदस्यों की सहायता:

एक परिवार के अधिकांश सदस्यों को भी इस योजना के अंतर्गत सहायता प्रदान की जा सकती है, जिससे उन्हें अलग-अलग इकाइयों में स्थानांतरित करने के लिए सुविधा होती है।

  • दो परियोजनाएं के बीच की दूरी:

दो परियोजनाओं के बीच की दूरी को कम से कम 500 मीटर रखी जानी चाहिए, ताकि विभिन्न परियोजनाओं को सही रूप से स्थापित किया जा सके।

नाबार्ड योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन कैसे करें:

1) सबसे पहले, आवेदक को National Bank For Agriculture And Rural Development (https://www.nabard.org/) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

2) वहां, “Information Centre (सूचना केंद्र)” ये ऑप्शन दिखेगा उसपर क्लिक करना है।

3) इसके बाद, आवेदक को अपनी योजना के अनुसार “Download PDF” का ऑप्शन चुनना होगा।

4) यहां, आवेदक को फॉर्म भरकर सबमिट करना होगा।

You might also like