दिनभर नहीं होगी एसिडिटी, माइग्रेन की समस्या: सुबह की हर्बल चाय का सेवन..

सुबह की शुरुआत चाय या कॉफी के साथ करने वाले कई लोगों को अक्सर एसिडिटी जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसके बजाय, आप एक वैकल्पिक पेय का सेवन कर सकते हैं जो न केवल एसिडिटी को रोकने में मददगार होता है, बल्कि साथ ही साथ स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है।

डॉ. दीक्षा भावसार सावलिया, एक आयुर्वेद चिकित्सक, एक हर्बल चाय रेसिपी साझा करती हैं, जो एसिडिटी, माइग्रेन, मतली, सिरदर्द, जीआरडी, पीसीओएस, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं को कम करने में मदद कर सकती है। उन्होंने लिखा है, “जब आप समूह और हार्मोनल समस्याओं से पीड़ित होते हैं, तो सुबह सबसे पहले कैफीन पहले से ही सूजन वाली आंत में सूजन पैदा कर सकता है। यह आपकी आंत की परत को परेशान करता है और वात के साथ पित्त को बढ़ाता है, जिससे हार्मोनल असंतुलन हो सकता है।” ये समस्याएं सूजन, कब्ज और पित्त पथरी का कारण बनती हैं।

  • इस हेल्दी हर्बल टी को बनाने के लिए आपको निम्नलिखित सामग्री की आवश्यकता होगी:
    • 1 गिलास पानी (300 मिली)
    • 15 करी पत्ते
    • 15 पुदीने की पत्तियां
    • 1 चम्मच सौंफ
    • 2 चम्मच धनिया
  • इसे बनाने की विधि:
    1. एक सॉस पैन लें और उसमें पानी डालें।
    2. पानी में करी पत्ता, पुदीना पत्ता, सौंफ और धनिया मिलाएं।
    3. एक पैन को मध्यम तापमान पर गर्म करें।
    4. मिश्रण को धीमी आंच पर 5-7 मिनट तक उबालें।
    5. जब यह उबल जाए तो सॉस पैन को आंच से हटा लें और चाय को एक कप या मग में छान लें।

इस हर्बल चाय को सुबह सबसे पहले पिएं। आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का कहना है कि हार्मोनल और पित्त संबंधी समस्याओं से पीड़ित व्यक्तियों को कैफीन से परहेज करने की सलाह दी जाती है। इसकी लत के कारण कैफीन के साथ दिन की शुरुआत करने की आदत को छोड़ना चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

यदि आपको तत्परता से इसे रोकना मुश्किल लगता है, तो आपके लिए एक वैकल्पिक तरीका है। आप अपनी चाय या कॉफी में आधा चम्मचघी या एक चम्मच नारियल तेल मिला सकते हैं, जो आपकी आंत को होने वाले नुकसान को कम करने में मदद कर सकता है। हर्बल चाय लेने के 30 मिनट बाद आप कुछ भी और ले सकते हैं। इस तरीके का पालन करके, आप अपने पाचन तंत्र को सुरक्षित रखकर कैफीन की मात्रा को धीरे-धीरे कम कर सकते हैं।

You might also like